UP Politics : लोकसभा चुनाव से पहले यूपी में कांग्रेस करेगा बड़ा खेला, BMD फार्मूले पर है भरोसा।

Comments Off on UP Politics : लोकसभा चुनाव से पहले यूपी में कांग्रेस करेगा बड़ा खेला, BMD फार्मूले पर है भरोसा।

यूपी लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा दांव:

दरअसल आपको बता दूं कि यूपी लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने यूपी में बड़ा चाल चल रही है जी हां कांग्रेस ने यूपी में बृजलाल खबरी को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर दलित कार्ड खेला है क्योंकि आगे लोकसभा चुनाव है और इस चुनाव को ध्यान रखते हुए उन्होंने अन्य पार्टियों से इतर दलित पर दाव लगा दिया है।

आपको बता दूं कि कांग्रेस इस बार यूपी लोकसभा चुनाव में सफल होने के लिए पूरी तरह से तैयार है और हर एक दांव खेलने को  तैयार है इसके लिए इन्होंने लोकसभा चुनाव 2024 में अपना जी तुम सुनिश्चित करने के लिए जोर-शोर से मेहनत कर रहे हैं आपको बता दो कि पिछले विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस की करारी शिकस्त मिलने के बाद अजय कुमार कुल्लू के इस्तीफा देने से कांग्रेसी अध्यक्ष पद का पद खाली था।

कांग्रेस ने आगामी लोकसभा चुनाव को मद्देनजर रखते हुए इन्होंने ब्रजलाल कादरी के नए अध्यक्ष के रूप में नामित किया ऐसा करना कांग्रेस के लिए यूपी में बड़ा दाव लगाने का बात कही जा रही है।

दरअसल आपको बता दूं कि नए प्रदेश अध्यक्ष बृजलाल खबरी ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बनते हैं उन्होंने बताया कि मैं कांग्रेस के इस भूमिका में सदैव तत्पर रहूंगा कांग्रेस सभी को साथ लेकर चलने का सोच रखी है कांग्रेसका सूत्र जाति धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं करना इसको लेकर है।

इसके साथ ही आपको बता दूं कि नहीं प्रदेश अध्यक्ष बृजलाल खबरी ने बताया कि पार्टी में सोच समझकर एक दलित को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में नामित किया है इसलिए हम लोग पूरे जोर-शोर से कांग्रेश के साथ रहेंगे और लोकसभा चुनाव 2024 में कांग्रेस की जीत सुनिश्चित करेंगे।

यूपी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस चलेगी BMD फार्मूला:

दरअसल आपको बता दूं कि वर्ष 2024 में लोकसभा चुनाव होना है ऐसे में कांग्रेस का नजरें यूपी में खासकर की है क्योंकि आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को यूपी में करारी शिकस्त मिला था जिसको लेकर उन्होंने इस बार यूपी में BMD फार्मूला (ब्राह्मण, दलित और मुस्लिम) पर भरोसा जताया है।

आपको बता दूं कि इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस BMD फार्मूला पर काफी भरोसा है क्योंकि कांग्रेस ने सोच-समझकर इस फार्मूला को अपनाया है क्योंकि कांग्रेस को उम्मीद है कि इस फार्मूला पर चलने से लोकसभा चुनाव 2024 में बीजेपी को करारी शिकस्त दे सकते हैं।