सिल्वर के बाद राष्ट्रमंडल खेलों में दिलाया दूसरा गोल्ड मेडल :

दरअसल आपको बता दूं कि अभी कॉमन वेल्थ गेम्स 2022 का आयोजन बर्मिंघम में हो रहा है जिसमे मणिपुर की रहने वाली मीराबाई चानू देश के नाम तीन मेडल समर्पित किया हैं।

आपको बता दू ब्रिटेन के बर्मिंघम में आयोजित होने वाली कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारतीय खिलाड़ी का शानदार प्रदर्शन दिखने को मिल रहा हैं। आपको बता दू की कॉमन वेल्थ गेम्स के दूसरे दिन यानी की शनिवार को भारतीय वेटलिफ्टर टीम ने शानदार प्रदर्शन करके एक के बाद एक करके टीम मेडल देश के नाम समर्पित किया है जिसमे मणिपुर की रहने वाली मीराबाई चानू ने गोल्ड मेडल जीतकर देश को समर्पित किया है वही बात करे तो संकेत सरगर ने सिल्वर मेडल देश के नाम समर्पित करके देश का गौरव बढ़ाया है वही बात करे तो गुरुराज पुजारी ब्रॉन्ज मेडल जीतकर देश के नाम समर्पित किया।

जानिए क्यों चल रही थी डिप्रेशन में मीराबाई चानू :

दरअसल आपको बता दूं कि मीराबाई चानू फिलहाल 2016 के रियो ओलंपिक के बाद डिप्रेशन में चल रही है। जब इसने 2016 के रियो ओलंपिक में मैच फिनिश नही कर पाई थी तब से इनके नाम के आगे “डिड नॉट फिनिश” लिखा रहता है जिससे इनकी बहुत खूब आलोचना हो रही थी तब से ये डिप्रेशन में जी रही थी

बर्मिंघम में गोल्ड जीतकर देश को किया समर्पित :

दरअसल आपको बता दूं की कॉमन वेल्थ गेम्स 2022 का आयोजन बर्मिंघम में हो रही हैं इसी बीच मणिपुर की रहने वाली मीराबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग के 49 किलोग्राम भार वर्ग मीराबाई चानू स्नैच राउंड समाप्त होने के बाद शीर्ष स्थान प्राप्त की, उन्होंने अपने प्रथम प्रयास में 84 kg का भार उठाया , फिर दूसरे प्रयास में 88 kg का भार उठा कर राष्ट्रीय रिकॉर्ड की बराबरी को हासिल की, जबकि तीसरे प्रयास में 90 kg का भार नहीं उठा सकी ,लेकिन क्लीन एंड जर्क राउंड में 109 kg का भार उठा कर देश के नाम गोल्ड हासिल किया।

Author

Write A Comment